थानाधिकारी ने आत्महत्या से पहले दो सुसाइड नोट लिखे, एसपी व परिवार से मांगी माफी

चुरु. 
राजगढ़ थानाप्रभारी विष्णुदत्त विश्नोई ने शनिवार अलसुबह अपने सरकारी क्वार्टर में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। सुबह जब उनकी आत्महत्या की बात सामने आते ही लोगो में आक्रोश फैल गया। विष्णुदत्त के खुदकुशी करने की बात सामने आई। इस बीच घटना का पता चलने पर चुरु एसपी तेजस्विनी गौतम सहित आला अधिकारी और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। इसके बाद बीकानेर के रेंज आईजी जोस मोहन भी राजगढ़ के लिए रवाना हो गए। मौका मुआयना करने के बाद शव को अस्पताल ले जाया गया। जहां पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया। पुलिस को घटनास्थल से एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसकी जांच की जा रही है।

दो सुसाइड नोट में एसपी व परिवार से माफी मांगी

एसपी :

इसमें उन्होंने लिखा की आदरणीय मैडम, माफ करना, प्लीज, मेरे चारों तरफ इतना प्रेशर बना दिया गया कि मैं तनाव नहीं झेल पाया। मैंने अंतिम सांस तक मेरा सर्वोत्तम देने का राजस्थान पुलिस को प्रयास किया। निवेदन है कि किसी को परेशान नहीं किया जाए। मैं बुजदिल नहीं था। बस तनाव नहीं झेल पाया। मेरा गुनाहगार मैं स्वयं हूं। 

परिवार :

सुसाइड नोट अपने माता पिता के नाम से लिखा- आदरणीय मां पापा, मैं आपका गुनाहगार हूं। इस उम्र में दुख देकर जा रहा हूं। उमेश, मन्कू और लक्की मेरे पास कोई शब्द नहीं है। आपको बीच मझधार में छोड़कर जा रहा हूं। पता है ये कायरों का काम है बहुत कोशिश की खुद को संभालने की पर शायद गुरु महाराज ने इतनी सांस दी थी। उमेश दोनों बच्चों के लिए मेरा सपना पूरा करना। संदीप भाई पूरे परिवार को संभाल लेना प्लीज, मैं खुद गुनाहगार हूं। आप सबका विष्णु

Leave a Comment

Your email address will not be published.