गांव गांव, ढाणी-ढाणी अलख जगायेंगे, टीबी मुक्त जालोर बनायेंगे एक्टिव केस फाईडिंग अभियान के तहत किया जा रहा है सर्वे

गांव गांव, ढाणी-ढाणी अलख जगायेंगे, टीबी मुक्त जालोर बनायेंगे
एक्टिव केस फाईडिंग अभियान के तहत किया जा रहा है सर्वे
जालोर 12 अक्टूबर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के जिले में टीबी रोगीयों की खोज के लिए एक्टिव केस फाईंडिग टीबी सर्विस टू डोर स्टेप अभियान 16 अक्टूबर तक संचालित रहेगा।
जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. सुरेश कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के जिले में टीबी रोगियों की खोज हेतु एक्टिव केस फाईंडिग टीबी सर्विस टू डोर स्टेप अभियान दिनांक 3 अक्टूबर से 16 अक्टूबर 2020 तक चलाया जा रहा है। जिसमें जिले में अति संवेदनशील एवं वंचित जनसंख्या को चिन्हित किया गया है। इन चिन्हित एरिया में आशा सहयोगिनी, एएनएम एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा घर घर जाकर सर्वे किया जा रहा हैं। सर्वे के दौरान जिस भी घर में किसी व्यक्ति को दो सप्ताह से अधिक खांसी, लगातार बुखार, भूख कम लगना, लगातार वजन में गिरावट, बलगम में खून आना, आदि लक्षण हैं तो वह व्यक्ति संभावित टीबी रोगी हो सकता है। स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा उस व्यक्ति को चिन्हित करते हुए नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में बलगम की जांच, एक्सरे आदि जांच द्वारा टीबी रोग का निदान किया जा रहा हैं साथ ही टीबी रोग की पुष्टि होने पर अतिशीघ्र रोगी का उपचार प्रारम्भ किया जायेगा।
टीबी रोगी की जांच एवं सम्पूर्ण उपचार राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत समस्त राजकीय चिकित्सा संस्थानो पर निःशुल्क उपलब्ध हैं साथ ही निक्षय पोषण योजना के तहत पात्र क्षय रोगियों को प्रतिमाह पोषण राशि से लाभांवित भी किया जायेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.