कारोबारी के घर से 15 लाख रुपए लेकर ग्रेनाइट फैक्ट्री जा रहे मुनीम को रास्ते में दो बाइक पर आए चार बदमाशों ने रोका, मारपीट कर रुपए से भरा बैग ले गए

Spread the love

सांथू से मुनीम ने नोटों से भरा बैग लिया और दूसरे मुनीम को बाइक लेकर बुलाया, रास्ते में बदमाशों ने रेलवे फाटक से एक किमी दूर लूट को अंजाम दिया
जालोर.
ग्रेनाइट कारोबारी के मुनीम से बागरा रेलवे फाटक से एक किलोमीटर दूर दो बाइक पर सवार होकर आए चार बदमाश 15 लाख रुपए से भरा बैग लूटकर फरार हो गए। दोपहर को करीब 12:30 बजे हुई इस घटना से सनसनी फेल गई। पुलिस के पास दो घंटे बाद मुनीम पहुंचे और वारदात की जानकारी दी। प्रारंभिक पड़ताल में माना जा रहा है कि लुटेरों को पहले से ही रुपए ले जाने का पता था और उन्होंने रास्ते की रैकी कर इसे चुना। इसलिए उन्होंने बाइक पर जा रहे मुनीम को सुनसान जगह रोककर मारपीट की और बैग ले गए। घटना के समय कारोबारी अर्जुन लाल श्रीमाली चित्तौड़ गए हुए थे। वे देर शाम को बागरा थाने पहुंचे और लूट का मामला दर्ज कराया।
ग्रेनाइट कारोबारी अर्जुन लाल श्रीमाली के सांथू स्थित घर पर मुनीम भंवरलाल गया और 15 लाख रुपए से भरा बैग लिया। उसके पास बाइक नहीं थी तो उसने दूसरे मुनीम वीरेंद्र को बुलाया। वीरेंद्र बाइक लेकर सांथू गया और इसके बाद दोनों बाइक पर सवार होकर भागली प्याऊ स्थित फैक्ट्री के लिए निकले। बागरा रेलवे फाटक से क्रॉस होकर एक किलोमीटर दूर पहुंचे ही थे कि पल्सर और होंडा बाइक पर सवार दो-दो बदमाश आए। उन्होंने मुनीम की गाड़ी रुकवाइ। उनके हाथ में डंडा देखकर वीरेंद्र डरकर भाग गया। जबकि भवंरलाल के हाथ में रुपयों से भरा बैग था। बदमाशों ने उसके साथ मारपीट कर बैग लूटकर ले गए। घटना के दो घंटे बाद पुलिस को सूचना दी गई। बागरा थानाधिकारी रामनिवास सूचना मिलते ही मौका मुआयना करने पहुंच गए। लुटेरों की तलाश की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। डिप्टी जयदेव सियाग भी मौके पर गए और पड़ताल की। देर शाम को कारोबारी अुर्जन थाने पहुंचे और रात को थाने में 15 लाख रुपए की लूट का मामला दर्ज कराया गया।

पूरी तैयारी के साथ आए थे बदमाश क्योंकि जहां लूट की वहां कोई सीसीटीवी नहीं, रास्ता भी सुनसान चुना
पड़ताल में पता चला कि इस प्रकरण में बदमाश पूरी तरह से तैयारी के साथ आए थे। उन्हें रुपए लाने का पता था। रास्ते के बारे में जानकारी थी। जगह को लेकर भी रैकी की गई। सीसीटीवी या भीड़ वाली जगह की बजाय सुनसान जगह गाड़ी रोकी और बैग ले गए। उन्हें रुपए लाने के बारे में भी जानकारी थी।


Spread the love

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*